स्तन कैंसर क्या है और इसके होने के मुख्य कारण कौन-से है ?

स्तन कैंसर की समस्या तब उत्पन्न होती है जब स्तन की कोशिकाएं उत्परिवर्तित होकर कैंसरयुक्त कोशिकाओं में तब्दील हो जाती है, जो आगे जाकर ट्यूमर करूप धारण कर लेती है | यह कैंसर आमतौर पर महिलाओं में या फिर जन्म के समय के महिला के रूप में नामित लोगों को 50 की आयु या फिर इससे भी अधिक उम्र के लोगो को प्रभावित करती है, लेकिन इसके साथ ही यह कम उम्र की महिलाओं, पुरुषों और जन्म के समय पुरुष के रूप में नामित लोगों को भी प्रभावित कर सकता है | स्वास्थ्य सेवा प्रदाता द्वारा इस ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी या फिर कैंसरयुक्त कोशिकाएं को ख़तम करने के लिए उपचार के साथ-साथ स्तन कैंसर का इलाज भी किया जाता है | 

यूनियन सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल के सीनियर डॉक्टर प्रभात गुप्ता ने अपने यूट्यूब चैनल में पोस्ट एक यूट्यूब शॉर्ट्स के माध्यम से यह बताया कि स्तन कैंसर होने वाले आम कैंसरों में से एक होता है | स्तन कैंसर के लगभग 80 प्रतिशत मामले आक्रामक होते है, जिसका मतलब है कि ट्यूमर महिला के स्तन के आसपास के अलावा शरीर के अन्य क्षेत्र में भी फ़ैल सकता है | आइये जानते है स्तन कैंसर कितने  प्रकार के होते है :- 

1. इनवेसिव डक्टल कार्सिनोमा :- यह कैंसर महिला के दूध के नलिकियों में शुरू हो जाता है और स्तन के आसपास ऊतक में फैलने लगता है |  

2. लोब्यूलर ब्रैस्ट कैंसर :- यह कैंसर महिला के दूध वाली ग्रंथियों में शुरू होकर, अक्सर स्तन के आसपास फ़ैल जाता है | 

3. डक्टल कार्सिनोमा इन सीटू :- यह कैंसर भी महिला के दूध के नलिकियों से शुरू होता है लेकिन इससे आगे नहीं बढ़ता | 

4. ट्रिपल-नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर :- यह कैंसर काफी आक्रामक होता है और बाकि कैंसर की तुलना में अधिक तीव्रता से फैलता है | 

5. इंफ्लेमेटरी ब्रैस्ट कैंसर :- इस कैंसर में महिला के स्तन में दुर्लभ और तेज़ी से बढ़ने वाले दाने जैसा दिखाई देता है | 

6. स्तन का पेजेट रोग :- यह कैंसर महिला के निप्पल की त्वचा को काफी प्रभावित करता है और दाने जैसा दिखाई देता है | बाकी कैंसर के मुकाबले यह कैंसर के होने के 4 प्रतिशत से भी कम अवसर होते है | 

सीनियर डॉक्टर प्रभात गुप्ता ने बताया की स्तन कैंसर होने के मुख्य कारण है:-

  • 55 से अधिक आयु का होना 
  • मोटापा का होना 
  • धूम्रपान का सेवन करना 
  • विकिरण चिकित्सा से जोखिम होना 
  • हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी से जोखिम 
  • अल्कोहल युक्त पेय पदार्थ का सेवन करना आदि 

यदि आप भी इस समस्या से जूझ रहे है तो बेहतर है की आप डॉक्टर के पास जाकर इस समस्या का उपचार कराएं, ताकि स्तन कैंसर से आपको जल्द से जल्द छुटकारा मिल सके | इससे  जुडी कोई भी जानकारी के लिए आप यूनियन सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल से परामर्श कर सकते है, यहाँ के डॉक्टर प्रभात गुप्ता कैंसर केयर में स्पेशलिस्ट है, जो आपको इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकते है | 

Book Appointment